smsbyheart_love (9)
क्या खूब थे वो लम्हें उल्फत के
मौसम भी हसींन लगते थे
याद आते हैं वो पल रह रहकर
आयी न उसकी कभी कोई जो खबर
दिल गया है मर ये सोच सोचकर…..